15.6 C
London
Sunday, September 25, 2022

लकड़ी बिनने गई थी जंगल आदिवासी महिला, चमकी किस्मत, जंगल में पड़ा मिला हीरा,बताई जा रही है इतनी कीमत

- Advertisement -spot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_img

Aadivahi Mahila Ko Jangal Me Mila Hira: मध्य प्रदेश की रत्नगर्भा नगरी पन्ना न जाने कितनों की तकदीर बदल चुकी है. पन्ना में तकदीर बदलने की हजारों कहानियां सुनने मिल जाएंगी लेकिन इनमें एक सबसे अलग ही भाग्य बदलने वाली कहानी देखने को मिली है. यहां एक आदिवासी महिला जंगल में लकड़ी बीनने गई थी जहां उसे एक चमकीला पत्थर मिला. उसे वह घर ले आयी तो पता चला कि यह हीरा है. इसकी वजह से उसकी जीवन भर की गरीबी दूर होती नजर आई. इस हीरे की कीमत 15 लाख से अधिक रुपये आंकी गई है. 

जमा कराया हीरा कार्यालय में

पन्ना शहर से लगे पुरुषोत्तमपुर गांव की आदिवासी महिला गेंदा बाई (50 वर्ष) को जंगल में लकड़ी बीनने के दौरान 4.39 कैरेट वजन वाला जेम क्वालिटी का बेशकीमती हीरा पड़ा मिला है. महिला ने हीरे को अपने पति परमलाल के साथ पन्ना आकर कलेक्ट्रेट स्थित हीरा कार्यालय में जमा करा दिया है. इस हीरे की अनुमानित कीमत 15 लाख से अधिक आंकी जा रही है.

महिला ने क्या बताया

हीरा मिलने से अत्यधिक प्रसन्न गेंदा बाई ने बताया कि, तीन-चार दिन पूर्व वह लकड़ी लेने के लिए पुखरी के जंगल गई थी. वहीं जंगल के रास्ते में मुझे चमकती चीज दिखाई दी, जिसे उठाकर मैं घर ले आई थी. हमनें कभी हीरा देखा नहीं था, इसलिए कांच का टुकड़ा समझकर घर में ही रख दिया. आज मेरे पति परमलाल ने कहा कि पन्ना चलकर साहब को इसे दिखाते हैं और हम दोनों पन्ना आ गए. यहां हीरा ऑफिस में जब इसे दिखाया तो पता चला कि यह कांच का टुकड़ा नहीं हीरा है. यह जानकर गेंदाबाई की खुशी का ठिकाना नहीं है. वह कहती हैं कि अब बेटियों की शादी धूमधाम से करेंगी.

पति करते हैं मजदूरी

50 वर्षीय गेंदबाई के 8 बच्चे हैं. सबसे बड़ा 35 साल का बेटा है जिसकी शादी हो चुकी है, उसके भी बच्चे हैं. पति परमलाल जहां काम मिल गया वहां मजदूरी करता है. इतने बड़े परिवार का इस महंगाई में बड़ी मुश्किल से गुजारा होता है. गेंदा बाई ने बताया कि चूल्हा जलाने के लिए वह लकड़ी लेने जंगल गई थी और ऊपर वाले ने उनकी सुन ली. अब सारी तकलीफें दूर हो जाएंगी.

751876bfcd122ddee39215ebc0d91ee61658979858 original

करेंगी बेटियों की शादी

गेंदा बाई ने बताया कि उसके छह बेटे और दो बेटियां हैं. बड़ी बेटी 20 साल की है, जिसकी शादी करनी है. पैसा ना होने के कारण शादी नहीं कर पा रहे थे लेकिन अब दोनों बेटियों की अच्छे से शादी करेंगे. छोटी बेटी क्रांति अभी 15 साल की है. परमलाल ने बताया कि इसके पहले उन्होंने कभी हीरा नहीं देखा था, पहली बार हीरा हाथ से छूकर देखा है.

0eb30fca387f6e96c1b3bcb62f614adb1658979872 original

हीरे की होगी नीलामी

हीरा कार्यालय पन्ना के हीरा पारखी अनुपम सिंह ने बताया कि, ग्राम पुरुषोत्तमपुर निवासी गेंदाबाई को जंगल में यह हीरा पड़ा मिला है जिसे उन्होंने आज जमा कराया है. जेम क्वालिटी का यह हीरा 4.39 कैरेट वजन का है, जिसकी कीमत लाखों में है. जानकारों का यह कहना है कि यह हीरा अच्छी क्वालिटी का है, इसलिए नीलामी में इस हीरे की अच्छी कीमत मिलने की उम्मीद है. इसकी अनुमानित कीमत 15 लाख रुपये से भी अधिक आंकी जा रही है. 

हीरा अधिकारी रवि पटेल ने बताया कि, इस हीरे को आगामी होने वाली नीलामी में बिक्री के लिए रखा जाएगा. इसकी बिक्री से जो राशि प्राप्त होगी, उसमें से शासन की रॉयल्टी काटने के बाद शेष पूरी राशि हीरा धारक गेंदाबाई को प्रदान की जाएगी.

- Advertisement -spot_imgspot_img
Latest news
- Advertisement -spot_img
Related news
- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here