धर्म

Astro Tips: पीपल में हल्दी चढाने से भगवान विष्णु होते है प्रसन्न, आर्थिक तंगी से मिलता है छुटकारा

Astro Tips: पीपल में हल्दी चढाने से भगवान विष्णु होते है प्रसन्न, आर्थिक तंगी से मिलता है छुटकारा, सनातन धर्म में पीपल के पेड़ को देवी-देवताओं का दर्जा माना जाता है। सोमवती अमावस्या के दिन को पीपल के पेड़ की पूजा और परिक्रमा का विशेष महत्व माना गया है। पीपल के पेड़ में भगवान विष्णु और शनिदेव वास रहता है। इसलिए शनिवार के दिन लोग पीपल के पेड़ में जल, कच्चा दूध, चीनी और तिल अर्पित करते हैं। लेकिन क्या आप जानते है पीपल के पेड़ में हल्दी चढाने से क्या होता है। धार्मिक मान्यता के अनुसार हल्दी बिना मांगलिक अनुष्ठान को अधूरा माना जाता है। तो चलिए जानते है पीपल में हल्दी चढाने के बारे में..

यह भी पढ़े:-Cold-Cough Remedies: आयुर्वेदिक गुणों का खजाना है ये 5 चाय, सर्दी-जुकाम में चुटकियों में दिलाती है आराम

जानें पीपल में हल्दी चढ़ाने से क्या होता?

जानकारी के लिए आपको बता दें हिंदू धर्म में पेड़-पौधों बहुत ही विशेष महत्व दिया जाता है। ऐसे में पीपल के पेड़ को बेहद शुभ माना गया है। मान्यता के अनुसार पीपल के पेड़ की पूजा-अर्चना करने से व्यक्ति के जीवन के कई दोष और संकट दूर होते है। ऐसे में पीपल के पेड़ में हल्दी डालने को बहुत शुभ और अच्छा माना गया है।

ग्रह दोष से मिलती हैं मुक्ति

अगर आपके कुंडली में खराब ग्रह-दोष लगा है तो पीपल की जड़ में हल्दी और जल डालने से ग्रह-दोष से मुक्ति मिलती है। साथ ही व्यक्ति के जीवन से कई समस्या और आर्थिक तंगी की समस्या दूर होती है। इसलिए पीपल के पेड़ की जड़ में हल्दी चढ़ाई जाती है। इससे ग्रह दोष शांत होते हैं।

यह भी पढ़े:-होली के जिद्दी रंग त्वचा और बालों से छूटाना चाहती है तो अपनाएं ये 4 आसान टिप्स

आर्थिक तंगी होगी दूर

आपको बता दें अगर आप आर्थिक तंगी से परेशान है तो पीपल के जड़ में हल्दी और जल अर्पित करें। हल्दी का सीधा संबंध भगवान विष्णु से है। शनिवार के दिन पीपल के वृक्ष में भगवान विष्णु और लक्ष्मी माता वास करते हैं। ऐसा करने से लक्ष्मीनारायण भगवान प्रसन्न होते हैं।

भगवान विष्णु होंगे प्रसन्न

हल्दी भगवान को अति प्रिय है। इसलिए पीपल के पेड़ में हल्दी चढ़ाने से भगवान विष्णु प्रसन्न होते हैं। जो व्यक्ति ऐसा करता है उस पर भगवान विष्णु की कृपा बनी रहती है। इतना ही नहीं उसके घर में सुख समृद्धि की प्राप्ति होती है।

Back to top button