काम की बात

Chanakya Niti: जीवन में सफलता प्राप्त करने के लिए ध्यान रखें आचार्य चाणक्य की ये बातें, बदल जाएगी किस्मत

Chanakya Niti : जीवन में सफलता प्राप्त करने के लिए ध्यान रखें आचार्य चाणक्य की ये बातें, बदल जाएगी किस्मत, आचार्य चाणक्य भारत के एक महान गुरु थे। उन्हें पारंपरिक रूप से कौटिल्य या विष्णुगुप्त के रूप में पहचाना जाता है। यह महान राजनीतिज्ञ, रणनीतिकार, कूटनीतिज्ञ होने के साथ ही साथ अर्थशास्त्र के महान ज्ञाता थे। आचार्य चाणक्य ने मनुष्य को जीवन जीने के लिए कई तरह के विचारों का अवलोचन किया है। चाणक्य नीति में आचार्य चाणक्य ने सफलता की सीढ़ियों पर निरंतर आगे बढ़ने के लिए कुछ बातों का विशेष ध्यान रखने की बात बताई है।

यह भी पढ़े:-Punch की बोलती बंद कर देंगा Maruti की दमदार कार का चार्मिंग लुक 32KM का बेहतरीन माइलेज के साथ फीचर्स भी है लाजवाब, देखे कीमत

आचार्य चाणक्य नीति

चाणक्य नीति कहती है कि संकट के समय अक्सर लोग भटक जाते हैं और गलत राह पर निकल जाते हैं. वहीं जो मुश्किल घड़ी में भी ईमानदारी से अपना काम करते हैं उनकी मेहनत जाया नहीं जाती है. ऐसे लोग कंगाल से बहुत जल्द धनवान बन जाते हैं। आचार्य चाणक्य के अनुसार अपनी जिम्मेदारियों को सही समय पर पूरा करने वाला कभी असफलत नहीं होता है। अगर आप भी अपने जीवन में सफलता प्राप्त करना चाहते है तो आचार्य चाणक्य की इन बातों का पालन करें।

आलस का त्याग – तरक्की के मार्ग में आलस सबसे बड़ी बाधा होती है।
झूठ ना बोलें – किसी भी व्यक्ति को सफल होने के लिए झूठ का सहारा नहीं लेना चाहिए।
सौंदर्य – यदि आप बहुत सूंदर और युवा है, लेकिन आप में कोई गुण नहीं है, तो आप अपमान और अपेक्षा का का सामना करेंगे।
किताबी ज्ञान -आचार्य चाणक्य के अनुसार, किताबी ज्ञान हो या किसी काम को करने का अनुभव, व्यक्ति का ज्ञान कभी बेकार नहीं जाता। ज्ञानी व्यक्ति अपने जीवन में कभी असफल नहीं होता। व्यक्ति अपनी मेहनत के दम पर हर असंभव चीज को भी संभव करके दिखा सकता है। व्यक्ति को अपनी कड़ी मेहनत का फल देर-सवेर लेकिन जरूर मिलता है।

यह भी पढ़े:-Iphone के होश उड़ा देंगा OnePlus का 5G स्मार्टफोन, शानदार फीचर्स और 108MP कैमरा क्वालिटी के साथ देखिए कीमत

दूसरों की गलतियों से कुछ सीखें

आचार्य चाणक्य कहते है अगर आप जीवन में सफलता पाना चाहते है तो हमेशा ही दूसरों की गलतियों से कुछ न कुछ जरूर सीखना चाहिए। तब ही आप जीवन में आगे की ओर तररकी प्राप्त कर सकते है। साथ ही कई बार असफलताओं का भी सामना करना पड़ता है।

असफलता पर न करें अफसोस

ज्यादातर लोग गलती या असफलता होने पर कई बार अफसोस मनाते है और निराश हो जाते है लेकिन ऐसा उचित नहीं है। आचार्य चाणक्य की नीति के अनुसार, जो बीत गया उसपर कभी अफसोस नहीं करना चाहिए बल्कि अगली बार के लिए खुद को तैयार करना चाहिए और निडर रहना चाहिए।

इस जगह पर न रुके

आचार्य चाणक्य के अनुसार मनुष्य को कभी भी ऐसे जगह पर नहीं रुकना चाहिए जहां उसकी इज्जत न हो। मना-सम्मान प्राप्त न हो। यदि आपने ऐसे कर लिया तो आप एक सफल व्यक्ति बन जायेंगे।

Back to top button