धर्म

Chaurthi Fast 2024: 13 मार्च को बुधवार को चतुर्थी व्रत करके करें बुध ग्रह की पूजा, हरे मूंग का करें दान

Chaurthi Fast 2024 : हिन्दू मान्यता के अनुसार गणेश चतुर्थी का व्रत करना बहुत ही शुभ माना जाता है। इस दिन मान्यता के कारण महिलाएं चतुर्थी व्रत करती हैं। ऐसे में बुधवार, 13 मार्च को फाल्गुन शुक्ल पक्ष की चतुर्थी का व्रत किया जाएगा। इस दिन भगवान गणेश की असीम कृपा बरसेगी। गणेश चतुर्थी को विनायक चतुर्थी या विनायक चविटी के नाम से भी जाना जाता है। ऐसा कहा जाता है कि जो लोग इस गणेश चतुर्थी का व्रत करते है, उनके घर-परिवार में सुख-शांति और समृद्धि बनी रहती है। तो आइये जानते है बुधवार को चतुर्थी के योग के बारे में।

यह भी पढ़े:-Narasimha Dwadashi 2024: कब है नरसिंह द्वादशी? नोट करें डेट, जानिए मुहूर्त, पूजा विधि और महत्व

आपको बता दें उज्जैन के ज्योतिषाचार्य के मुताबिक, गणेश चतुर्थी हिन्दुओं का एक प्रमुख त्योहार है। चतुर्थी पर व्रत करने के साथ ही किसी गणेश मंदिर जाएं और भगवान गणेश को दूर्वा के साथ ही शमी के पत्ते भी जरूर चढ़ाएं। पूजा में शमी पत्ते, चावल, फूल, सिंदूर चढ़ाएं। शमी के पत्ते चढ़ाते समय इस मंत्र का जाप करें।

मंत्र- त्वत्प्रियाणि सुपुष्पाणि कोमलानि शुभानि वै।
शमी दलानि हेरम्ब गृहाण गणनायक।।

जानिए दूर्वा से जुड़ी कुछ बातें

गणेश जी को दूर्वा सबसे अति प्रिय है। इसलिए हर मनुष्य गणेश चतुर्थी पर दूर्वा जरूर चढ़ाता है। पूजा करने से लिए आपको 22 दूर्वा को एक साथ जोड़कर 11 जोड़ें बना लेना है ये 11 जोड़ें ही आपको पूजा में चढ़ाना है। यदि दूर्वा की बात करें तो आपको यह किसी भी बाग-बगीचे में बड़े ही आसानी में मिल जायेगी। इसे आपको तोड़कर साफ पानी से धो लेना है और इन मंत्रो के साथ इसकी 11 जोड़े बनाकर तैयार करना है।

यह भी पढ़े:-Morpankh Upay: बस एक मोरपंख चमका सकता है बच्चों की किस्मत, कॉपी-किताब में रखें मोरपंख

इन मंत्रों के साथ बनाये 11 जोड़े – ऊँ गं गणपतेय नम:, ऊँ गणाधिपाय नमः, ऊँ उमापुत्राय नमः, ऊँ विघ्ननाशनाय नमः, ऊँ विनायकाय नमः, ऊँ ईशपुत्राय नमः, ऊँ सर्वसिद्धिप्रदाय नमः, ऊँएकदन्ताय नमः, ऊँ इभवक्त्राय नमः, ऊँ मूषकवाहनाय नमः, ऊँ कुमारगुरवे नमः।

बुध ग्रह के लिए चतुर्थी पर करें ये शुभ काम

हर बुधवार बुध ग्रह की विशेष पूजा करनी चाहिए। अगर आप चाहे तो इस दिन हरे मूंग को भी चढ़ा सकते है। या फिर आप जरूरतमंद को हरे मूंग दान में भी दे सकते है। जिन लोगों की कुंडली में बुध ग्रह से दोष से मुक्ति मिल जाती है। उन्हें बुद्धि से संबंधित कामों में कई दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। ऐसा करने से बुध ग्रह का दोषों का असर कम होने लगता है।

Back to top button