Health

कॉटन कैंडी और गोभी मंचूरियन पर बैन, बन सकता है कैंसर का खतरा, कर्नाटक सरकार ने लिया ये बड़ा फैसला

कॉटन कैंडी और गोभी मंचूरियन पर बैन, बन सकता है कैंसर का खतरा, कर्नाटक सरकार ने लिया ये बड़ा फैसला, अक्सर लोग खाने के शौकीन होने के कारण कई तरह-तरह की चीजों का सेवन करते है। कई लोगों को गोभी मंचूरियन भी काफी पसंद होता है। लेकिन ये आपके सेहत के लिए काफी हद तक हानिकारक होता है। कर्नाटक सरकार ने स्वास्थ्य संबंधी चिंताओं को देखते हुए गोभी मंचूरियन और कॉटन कैंडी में आर्टिफिशियल कलर के इस्तेमाल पर रोक लगा दी है। यह निर्णय स्वास्थ्य के खतरों को देखते हुए लिया गया है, जो इन केमिकल्स के सेवन से हो सकते हैं।

यह भी पढ़े:-Iphone की गर्मी निकालने देगा Realme का 5G स्मार्टफोन, रॉयल कैमरा क्वालिटी के साथ देखिए कीमत और फीचर्स

आपको बता दें कर्नाटक के स्वास्थ्य मंत्री दिनेश गुंडू राव ने कॉटन कैंडी और गोभी मंचूरियन में फूड कलरिंग एजेंट रोडामाइन-बी (Rhodamine-B) पर प्रतिबंध लगाने की घोषणा की है। इसी के साथ उन्होंने चेतावनी दी है कि अगर सरकारी आदेश का उल्लंघन किया गया तो खाद्य सुरक्षा और गुणवत्ता अधिनियम के तहत कानूनी कार्रवाई की जाएगी। जिसमे कम से कम 7 साल की जेल और 10 लाख रुपये का जुर्माना हो सकता है।

स्वास्थ्य मंत्री दिनेश गुंडुराव ने बताया कि होटल और सड़क के किनारे की दुकानों से कुछ नमूने इकड्डे किये जाते है। टार्ट्राज़िन,कार्मोइसिन, सनसेट येलो और रोडामाइन-1बी में कुछ कृत्रिम रंगों को भी मिलाया जाता है और इसका इस्तेमाल किया जाता है। इन खाद्य पदार्थों में ज्यादा लाल रंग दिखने के लिए इसका उपयोग किया जाता है। रंग भरने वाले एजेंट के रूप में रोडामाइन का उपयोग प्रतिबंधित है। कर्नाटक के मंत्री दिनेश गुंडुराव ने ऐसे कई नमूने असुरक्षित निकले हैं।

यह भी पढ़े:-मार्केट में त्राहि-त्राहि मचा रही Maruti की सबसे सस्ती 7-सीटर कार, 27 का दमदार माइलेज के साथ शानदार फीचर्स भी है शामिल, देखे कीमत

जाँच में पाया गया कि गोभी मंचूरियन में अधिक मात्रा में कैंसरकारी पदार्थ पाए गए हैं। इसके नियमित सेवन से कैंसर जैसी बड़ी बीमारी का शिकार हो सकते है। इसके अलावा कलर कॉटन कैंडी भी सेहत के लिए हानिकारक साबित हुई है। जांच के दौरान गोभी मंचूरियन के 171 में से 106 नमूनों में और कैंडी के 25 नमूनों में से 15 में ऐसे केमिकल्स मिले है। इस कारण से कर्नाटक सरकार ने इन खाद्य पदार्थों में आर्टिफिशियल कलर के उपयोग पर पूरी तरह रोक लगा दी है।

Back to top button