Friday, September 30, 2022
Homeधर्म विशेषHariyali Teej 2022: आज हरियाली तीज व्रत का दिन, तो जानते हे...

Hariyali Teej 2022: आज हरियाली तीज व्रत का दिन, तो जानते हे शुभ महूर्त ,पूजन सामग्री और विधि

Hariyali Teej 2022 : हरियाली तीज आज यानी 31 जुलाई 2022 है। इसे मधुश्रव तृतीया या छोटी तीज के नाम से भी जाना जाता है। यह पर्व पति की लंबी उम्र के लिए मनाया जाता है।

हरियाली तीज 2022 :पति की लंबी उम्र के लिए हर साल हरियाली तीज का व्रत किया जाता है। आपको बता दें कि हरियाली तीज 31 जुलाई रविवार को है। इस दिन विवाहित महिलाएं अपने पति की लंबी उम्र के लिए और अविवाहित लड़कियों को अच्छा वर पाने के लिए निर्जला व्रत रखती हैं। हरियाली तीज का पर्व सावन के शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि को मनाया जाता है. हरियाली तीज नाग पंचमी से दो दिन पहले आती है।

हरियाली तीज का त्योहार भगवान शिव और माता पार्वती के मिलन के कारण मनाया जाता है। इस दिन महिलाएं दुल्हन के रूप में तैयार होती हैं और देवी पार्वती की पूजा करती हैं। हरियाली तीज को छोटी तीज या श्रवण तीज के नाम से भी जाना जाता है। आइए जानते हैं हरियाली तीज का शुभ मुहूर्त, पूजन सामग्री और विधि।

शुभ मुहूर्त


>>तृतीया तिथि प्रारंभ – 31 जुलाई 2022 प्रातः 02:59 बजे
>>तृतीया तिथि समाप्त – 01 अगस्त, 2022 पूर्वाह्न 04:18 बजे


हरियाली तीज की पूजा विधि


*हरियाली तीज के दिन सूर्योदय से करीब दो घंटे पहले उठ जाएं।
*सुबह जल्दी उठकर स्नान कर पूजा के लिए हरे रंग के वस्त्र धारण करें।
*पूजा कक्ष-पोस्ट को गंगाजल से साफ करें।
*पोस्ट को सफेद या लाल कपड़े से ढक दें।
*मिट्टी से भगवान शिव, देवी पार्वती और भगवान गणेश की मूर्तियां बनाएं। तस्वीरों का भी इस्तेमाल किया जा सकता है।
*चौकी पर भगवान शिव और पार्वती की मूर्ति स्थापित करें।
*तेल या घी का दीपक जलाकर देवताओं के दाहिनी ओर रखें।
*भगवान गणेश का आह्वान करें और उनका आशीर्वाद लें।
*इसके बाद कुछ अक्षत को मूर्ति के सामने रखें और फिर मौली के साथ कलश रखें।
*कलश में सुपारी, हल्दी, कुमकुम और पानी डालें।
*पान के पत्ते या आम के पेड़ के पत्तों का प्रयोग करें और उन्हें फूलदान में रख दें।
*पंचपात्र से थोडा़ सा पानी ले लीजिए. भगवान शिव और पार्वती के चरणों में जल चढ़ाकर पूजा शुरू करें।
*चंदन लगाएं, फिर भगवान शिव को धतूरा और सफेद मुकुट के फूल और देवी पार्वती को बेलपत्र और गुलाब के फूल चढ़ाएं।
*आप देवी को सुहाग सामग्री चढ़ा सकते हैं।
*हरियाली तीज व्रत कथा का पाठ करें।
*आरती गाकर पूजा समाप्त करें।


हरियाली तीज पूजा सामग्री


>>पीले वस्त्र, कच्चे रुई, नए वस्त्र, केले के पत्ते, बेल के पत्ते, धतूरे, शमी के पत्ते, जनेऊ, नारियल, सुपारी, कलश, अक्षत, दूर्वा घास, घी, कपूर, अबीर-गुलाल, क्विंस, चंदन, गाय का दूध, गंगाजल , पंचामृत दही, मिश्री, शहद आदि शामिल हैं।
>>माँ पार्वती के लिए सिंदूर, बिंदी, चूड़ियाँ, महोर, शंख, कुमकुम, कंघी, बिछुआ, मेंहदी, दर्पण और इत्र आदि।


हरियाली तीज पर विवाहित महिलाएं करें विशेष कार्य


>>विवाहित महिलाएं इस दिन दुल्हन के रूप में तैयार होती हैं और देवी पार्वती और शंकर जी की पूजा करती हैं, तो उन्हें अखंड सौभाग्य का वरदान मिलता है। इस दिन सोलह श्रृंगारों की पूजा करनी चाहिए।
>>हरियाली तीज पर महिलाओं को पूजा के बाद लोकगीत जरूर गाना चाहिए। इससे वातावरण में सकारात्मक ऊर्जा आती है।
>>हरियाली तीज पर झूलने की परंपरा सदियों से चली आ रही है।