Thursday, September 29, 2022
HomeHealth tipsHealth Care: पथरी में किस चीज से परेहज करना चाहिए और कौन...

Health Care: पथरी में किस चीज से परेहज करना चाहिए और कौन सी दाल खाना चाहिए, आइये जाने

Health Care: पथरी में किस चीज से परेहज करना चाहिए और कौन सी दाल खाना चाहिए, आइये जाने – अगर आपको पथरी है, तो आप कुछ खास तरह की दाल खा सकते हैं और कुछ दालों से परहेज कर सकते हैं। पथरी से आजकल हर दूसरा व्यक्ति परेशान हैं। पथरी का दर्द कभी भी उठ सकता है, यह दर्द असहनीय हो सकता है।

पथरी में शरीर में खनिज और लवणों से बने कठोर पदार्थ जमा हो जाते हैं। पथरी होने पर खाने-पीने का बहुत ध्यान रखना होता है। सही खान-पान से भी आप पथरी के दर्द से बच सकते हैं। पथरी में कुछ चीजों को खाने की सलाह दी जाती है, तो वहीं कुछ चीजों से परहेज करने को कहा जाता है। कौन-से फल और सब्जियां खानी चाहिए या नहीं खानी चाहिए, इस बारे में अधिकतर लोग जानते ही हैं। लेकिन पथरी में कौन-सी दाल खानी चाहिए और कौन-सी दाल नहीं खानी चाहिए, इस बारे में जानने के लिए यह पूरा लेख पढ़ें।

पथरी में कौन-सी दाल खाएं?

पथरी में कुल्थी की दाल खाना काफी फायदेमंद होता है। अगर आपको पथरी है, तो आप कुल्थी की दाल खा सकते हैं। कुल्थी की दाल स्टोन्स को छोटा करने में मदद कर सकती है। इससे स्टोन छोटे होते हैं और धीरे-धीरे पेशाब के साथ शरीर से बाहर निकलने लगते हैं। पथरी होने पर आप अपनी रेगुलर डाइट में कुल्थी की दाल (Kulthi ki Dal in Stone) शामिल कर सकते हैं। लगातार 3 से 4 महीनों तक कुल्थी की दाल खाने से आपको पथरी से छुटकारा मिल सकता है। इसके अलावा कुल्थी की दाल में फाइबर, आयरन और विटामिन सी भी पाया जाता है। ऐसे में यह दाल हेल्थ के लिए भी काफी लाभकारी होती है। इसलिए प्रत्येक व्यक्ति को कुल्थी की दाल अपनी डाइट में जरूर शामिल करनी चाहिए।

पथरी में कौन-सी दाल न खाएं?

जिस तरह से पथरी होने पर कुल्थी की दाल खाना फायदेमंद होता है। उसी तरह कुछ खास तरह की दालें पथरी रोगियों के लिए नुकसानदायक भी हो सकती हैं। इसलिए पथरी होने पर इन दालों का सेवन बिल्कुल नहीं करना चाहिए।

उड़द की दाल
पथरी के रोगियों को उड़द की दाल का सेवन बिल्कुल नहीं करना चाहिए। उड़द की दाल खाने से शरीर में मौजूद स्टोन बढ़ सकता है। इस स्थिति में आपको तेज दर्द भी उठ सकता है। उड़द की दाल खाने से किडनी में गंदगी जमा हो सकती है और स्टोन बढ़ सकता है। पथरी में खासकर रात के समय काली उड़द की दाल का सेवन भूलकर भी नहीं करना चाहिए।

चने की दाल
चने की दाल भी पथरी के रोगियों को नुकसान पहुंचा सकती है। अगर आपको पेट, पित्ताशय या किडनी में स्टोन है, तो चने की दाल से परहेज करना चाहिए। चने की दाल खाने से स्टोन की समस्या बढ़ सकती है।

सूखे बींस
अगर आपको पथरी है, तो आपको सूखे बींस का सेवन करने से भी बचना चाहिए। सूखे बींस खाने से पथरी की समस्या बढ़ सकती है। पथरी में सूखे बींस खाने के बाद आपको दर्द महसूस हो सकता है। इसलिए इसे खाने से बचें।

राजमा
राजमा प्रोटीन का एक बेहतरीन स्त्रोत होता है। इसलिए पथरी रोगियों को राजमा खाने से भी परहेज करना चाहिए। बहुत अधिक मात्रा में प्रोटीन लेना पथरी रोगियों के लिए नुकसानदायक हो सकता है। अगर स्टोन है, तो प्रोटीन का सेवन सीमित मात्रा में ही करना चाहिए।

इसके अलावा पथरी में कच्चे चावल, टमाटर, बैंगन, शिमला मिर्च, भिंडी, मीट और अधिक मसालेदार भोजन खाने से भी बचना चाहिए। वैसे तो पथरी को सही खान-पान और परहेज से नियंत्रण में रखा जा सकता है। लेकिन अगर आपको पथरी का तेज दर्द बार-बार उठे, तो इस स्थिति में डॉक्टर सर्जरी की सलाह भी दे सकते हैं।