धर्म

Holi 2024: कब मनाई जाएगी होली? ये 5 उपाय करेंगे तो हर मुश्किलें होगी दूर, मिलेगी सफलता

Holi 2024: हिन्दू धर्म में होली का त्यौहार बड़े ही धूम-धाम और उत्साह के साथ मनाया जाता है। हर वर्ष फाल्गुन मास की पूर्णिमा तिथि पर मनाया जाता है। हिन्दू पंचांग के अनुसार, इस साल होली का त्योहार 25 मार्च को मनाया जाएगा और होलिका दहन 24 मार्च को किया जायेगा। इस दिन पूरे देशभर में रंगों का त्यौहार मनाया जायेगा। होली पर आप कुछ उपायों से स्वास्थ्य से जुड़ी समस्या और आर्थिक तंगी की समस्या से छुटकारा पा सकते है। तो आइये जानते है होली पर किन उपायों को करना चाहिए।

यह भी पढ़े:-Morpankh Upay: बस एक मोरपंख चमका सकता है बच्चों की किस्मत, कॉपी-किताब में रखें मोरपंख

सुख-समृद्धि पाने का उपाय

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, अगर आपका कोई काम बनते- बनते रह जाता हो तो होली की रात्रि को सरसों के तेल का चौमुखी दीपक जलाकर पूजा करें व भगवान से सुख – समृद्धि की प्रार्थना करें। साथ ही, होलिका दहन के बाद राख को घर के दरवाजे के चारों और छिड़क दें। इससे आपके घर में फैली नकारात्मक ऊर्जा दूर हो जाएगी।

खत्म होगा जादू-टोने का असर

यदि आपको ऐसा लगता है कि आपके घर में कोई जादू टोना हुआ है तो आप होलिका दहन के दिन सरसों से तेल में उबटन बनाकर लगा ले और उसे छूटाकर होलिका दहन की अग्नि में जला दें. इस उपाय से आपका शरीर स्वस्थ हो जाएगा और जादू टोने का असर भी खत्म हो जाएगा।

दूर होगा घर का नजर दोष

अगर आपके घर पर बुरी आत्मा का असर है तो होलिका दहन के दूसरे दिन होलिका की राख को घर लाकर उसमें थोड़ी सी राई व नमक मिलाकर रख लें। इस प्रयोग से भूत-प्रेत या नजर दोष से मुक्ति मिलती है। इसके आलावा आप कुश, जौ, अलसी और गाय का गोबर लेकर छोटा सा उपला बनाएं और इस उपले को घर के मुख्य द्वार पर लटका सकती है।

यह भी पढ़े:-Innova को चारो खाने चित कर देंगा Suzuki दमदार MPV का लुक, झन्नाटेदार माइलेज और पावरफुल इंजन के साथ फीचर्स भी है दनादन, देखे कीमत

दूर होंगे सारी बीमारी

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, अगर आप होलिका दहन के दिन अग्नि के समक्ष हाथ जोड़कर उसकी तीन बार परिक्रमा करते है तो आपके सभी रोग दूर हो जायेगें। साथ ही, हर बीमारियों से भी छुटकारा मिल जाएगा।

लगाएं त्रिपुंड

होली के दिन आपको होलिका दहन के बाद अग्नि की राख लेकर माथे पर इस तरह से लगाए। बाएं तरफ से दाएं तरफ की ओर खींचती हुई 3 रेखाओं से त्रिपुंड बनाएं। ऐसी मान्यता है कि ऐसा करने से 27 कोटि देवी-देवता प्रसन्न होते हैं और व्यक्ति को आशीर्वाद देते है।

Back to top button