धर्म

Holika Dahan Timing: होलिका दहन पर रहेगा भद्रा का साया, जानें शुभ मुहूर्त और पूजा विधि

Holika Dahan Timing : होलिका दहन पर रहेगा भद्रा का साया, जानें शुभ मुहूर्त और पूजा विधि, रंगों का त्यौहार होली पूरे देशभर में बड़े ही धूम-धाम से मनाया जाता है। ऐसे में इस साल होलिका दहन 24 मार्च को है। इस दिन होलिका दहन के साथ बुराई पर अच्छाई की जीत के प्रतीक के रूप में देखा जाता है। होलिका दहन फाल्गुन पूर्णिमा को भद्रा रहित प्रदोष काल मुहूर्त में करने का विधान है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार होलिका दहन में सभी नकारात्मक शक्तियों का नाश हो जाता है और आसपास सकरात्मक ऊर्जा का संचार होता है। आइए जानते है होलिका दहन का शुभ मुहूर्त का समय और पूजा विधि के बारे में.

यह भी पढ़े:-Astro Tips: पीपल में हल्दी चढाने से भगवान विष्णु होते है प्रसन्न, आर्थिक तंगी से मिलता है छुटकारा

कब तक साया रहेगा भद्रा?

होलिका दहन 24 मार्च दिन रविवार को मनाया जायेगा। इस दिन रात में 10 बजकर 28 मिनट पर भद्रा खत्म होगा। उसके बाद होलिका दहन किया जायेगा।

होलिका दहन का शुभ मुहूर्त –

पंचांग के अनुसार, इस साल फाल्गुन माह की पूर्णिमा तिथि 24 मार्च को होलिका दहन किया जायेगा। इसके लिए शुभ मुहूर्त देर रात 11 बजकर 13 मिनट से लेकर रात्रि 12 बजकर 27 मिनट तक रहेगा। ऐसे में होलिका दहन के लिए लगभग 1 घंटे 14 मिनट का समय दिया गया है।

होलिका दहन का मंत्र –

आपको बता दें, होलिका दहन के दौरान आपको मंत्र का जाप करना चाहिए। उस समय ‘ॐ होलिकायै नमः’ मंत्र का उच्चारण करना है।

यह भी पढ़े:-सिर्फ 15 हजार में यहां मिल रही 80kmpl माइलेज वाली Hero Splendor Plus, देखें पूरी डिटेल

होलिका दहन की पूजा विधि –

  1. होलिका दहन वाले दिन शुभ मुहूर्त में होलिका के पास एक कलश स्थापित कर दें।
  2. इसके बाद ये कलश दक्षिण दिशा में रखें उसके बाद पंच देवताओं की पूजा करें।
  3. अब होलिका का मंत्र का जाप करते हुए पूजा करें।
  4. इस दौरान भक्त प्रह्लाद और भगवान हिरण्यकश्यप की भी पूजा करें।
  5. उसके बाद होलिका की 7 बार परिक्रमा करें और परिक्रमा के दौरान ही उसमें कच्चा सूत लपेट दें।
  6. उसके बाद नारियल, जल और अन्य पूजा सामग्री होलिका को अर्पित करें.
  7. ऐसी मान्यता है कि होलिका की अग्नि में गेहूं की बालियां सेंककर खाने से स्वास्थ्य लाभ होता है।
  8. इस तरह से आप होलिका दहन की पूजा कर सकते है।
Back to top button