Dragon Fruit Farming: इस फल की खेती को करने से सरकार दें रही किसानों को सब्सिडी, जानिए इसके फायदे

Written by Ankita

Published on:

Dragon Fruit Farming : कुछ सालों से बाजार में ड्रैगन फ्रूट की डिमांड तेजी से बढ़ रही है. ड्रैगन फ्रूट एक बेहद ही लोकप्रिय फल है, ये स्वास्थ्य के लिए बेहद फायदेमंद होता है। ड्रैगन फ्रूट की खेती कर लाखों कमा सकते हैं। ये बात सुनने और देखने में बहुत आकर्षक लग सकती हैं, परन्तु इस फल की खेती से किसानों को सरकार से सब्सिडी भी मिल रही है. बताया जा रहा है कि बिहार सरकार राज्य में ड्रैगन फ्रूट की खेती करने वाले किसान को अनुदान दिया जा रहा है.

यह भी पढ़े:-Hot Water Side Effects: लगातार ज्यादा गर्म पानी पीने से हो सकते है ये 5 नुकसान, आइये जाने

वैसे तो ड्रैगन फ्रूट में पाया जाता है लेकिन एक किसान ने इस विदेशी फल को भारत की मिट्टी में उगाया है और इस फल से वह लाखों का मुनाफा कमा रहा हैं. भारतीय किसान प्राकृतिक फसलों से साथ अब विदेशी खेती भी करने लगे है. तो आइये जानते है ड्रैगन फ्रूट की खेती से किसान को क्या लाभ है और इस फल के फायदे।

सरकार दे रही सब्सिडी

सरकार की उद्यान निदेशालय कृषि विभाग के अनुसार राष्ट्रीय बागवानी मिशन के तहत ड्रैगन फ्रूट की खेती करने के लिए किसानों को 40 फीसदी सब्सिडी दी जा रही है. इस हिसाब से एक किसान को ड्रैगन फ्रूट की खेती के लिए प्रति इकाई लागत 1.25 लाख रुपये का 40 फीसदी यानी 50,000 रुपये मिलेंगे. ये राशि सीधे लाभार्थी किसान के बैंक खाते में डीबीटी के माध्यम से भेजी जाएगी.

कैसे करें ये फल की खेती

ड्रैगन फ्रूट्स का पौधा 4 से 5 फीट की दूरी पर लगाया जाता है. इस पौधे के समीप एक खंबा या एक बांस बल्ली लगानी होती है. जिसके सहारे से यह पेड़ ऊपर की तरफ बढ़ना शुरू करता है. इस पेड़ में कोई भी बीमारी नहीं आती और लगभग 16 महीने बाद यह फल देना प्रारंभ करता है और हर साल इसका फल देने का एवरेज बढ़ता जाता है.

मिट्टी की गुणवार्ता

ड्रैगन फ्रूट की खेती के लिए मिट्टी भुरभुरी होनी चाहिए, ताकि मिट्टी में वायु रिक्तियाँ या कहें हवा पास होती रहे। खेत में जलभराव नहीं होना चाहिए, क्योंकि इसका पौधा कैक्टस की तरह ही होता है। इसे ज़्यादा पानी की ज़रूरत नहीं होती बस नमी चाहिए होती है। इसकी खेती के लिए तापमान स्तर सामान्य होना चाहिए।

यह भी पढ़े:-Punch की बोलती बंद कर देंगी Maruti की झन्नाट कार, तगड़े फीचर्स के साथ माइलेज भी है करारा

ड्रैगन फ्रूट की खेती से जागी किसानों की उम्मीद

सरकार की इस योजना के तहत किसानों को ड्रैगन फ्रूट के पौधे, खेत की तैयारी, सिंचाई, कीटनाशक नियंत्रण, कटाई, खरपतवार नियंत्रण और अन्य खर्चों के लिए सब्सिडी दी जाती है. इस योजना का उद्देश्य किसानों की आय बढ़ाना और राज्य में ड्रैगन फ्रूट की खेती को बढ़ावा देना है. ड्रैगन फ्रूट के पौधे रोपण के बाद करीब 18 महीने बाद फल देना शुरू कर देते हैं. फल पकने पर लाल या गुलाबी हो जाते हैं. फल को काटकर ताजा खाया जा सकता है. इसकी बाजार में डिमांड भी अधिक बढ़ गई हैं।

ड्रैगन फ्रूट की खेती से कमाई

इस खेती के लिए एक किसान ने डेढ़ बीघा जमीन में 2 हजार पेड़ लगाये थे. जिसमें करीब 6 लाख का खर्च आया था. इसमें पिछले वर्ष में करीब 300 फल हुए. किसान ने बताया कि एक बार में इससे फल बेचकर 15 लाख रुपये तक कमाए जा सकते हैं. इस प्रकार से अधिक मुनाफा होता है.

ड्रैगन फ्रूट के फायदे

ड्रैगन फ्रूट एक उष्णकटिबंधीय फल है यह स्वादिष्ट और पौष्टिक फल होता है. जिसमें कैलोरी कम और फाइबर और एंटीऑक्सीडेंट उच्च मात्रा में होते हैं. यह विटामिन सी, पोटेशियम और पोषक तत्वों से भरपूर होता है। ड्रैगन फ्रूट का इस्तेमाल फल, जूस और डेसर्ट में किया जाता है. इसका सेवन से चर्बी कम करने, वजन घटाने, मधुमेह और स्किन की समस्या के लिए बहुत फायदेमंद हैं।

Leave a Comment