Thursday, September 29, 2022
Homeफाइनेंसख़राब सिबिल स्कोर वाले व्यक्तियों को भी अब मिलेगा पर्सनल लोन बस...

ख़राब सिबिल स्कोर वाले व्यक्तियों को भी अब मिलेगा पर्सनल लोन बस आप को ऐसे करना होगा आवेदन

ख़राब सिबिल स्कोर वाले व्यक्तियों को भी अब मिलेगा पर्सनल लोन बस आप को ऐसे करना होगा आवेदन सिबिल स्कोर उन महवपूर्ण कारकों में से एक है जिस पर कोई बैंक/ लोन संस्थान आपकी पर्सनल लोन एप्लीकेशन को मंज़ूरी प्रदान करते समय विचार करता है। ये स्कोर 300 से 900 के बीच होता है जो दर्शाता है कि आप लोन लेने के लिए कितनी योग्य हैं। कम सिबिल स्कोर वाले लोगों को अक्सर लोन नहीं मिलता है। इस लेख में हम जानने की कोशिश करेंगें कि कम सिबिल स्कोर वाले लोग पर्सनल लोन कैसे ले सकते हैं।

अधिकांश बैंक/ लोन संस्थान आपके पर्सनल लोन आवेदन की समीक्षा करते वक्त अन्य योग्यता शर्तों के साथ-साथ आपके सिबिल स्कोर को भी चेक करते हैं। 750 और उससे अधिक क्रेडिट स्कोर वाले लोगों की लोन एप्लीकेशन के मंज़ूर होने की संभावना अधिक होती है। हालांकि अगर आपका सिबिल स्कोर कम है तो चिंता न करें क्योंकि पर्सनल लोन लेने के दूसरे तरीके भी हो सकते हैं

आपके सामने कभी भी ऐसे हालात बन सकते हैं जिसमें आपको पैसों की ज़रूरत पड़ सकती है। ऐसे हालातों से निपटने के लिए आपको पर्सनल लोन लेना पड़ सकता है और पर्सनल लोन लेने के लिए सिबिल स्कोर अच्छा होना चाहिए। तो यहां समझने की कोशिश करेंगे कि सिबिल स्कोर कम होने के क्या कारण होते हैं और कम सिबिल स्कोर होने के बावजूद पर्सनल लोन कैसे लिया जा सकता है।

क्रेडिट स्कोर कम होने के कारण

  • EMI या क्रेडिट कार्ड की बकाया राशि का भुगतान समय पर नहीं करना: अगर आप समय पर अपनी लोन ईएमआई या क्रेडिट कार्ड बिलों का भुगतान नहीं कर पाते हैं, तो बैंक/ लोन संस्थान ये जानकारी क्रेडिट ब्यूरो को देते हैं। और इसके मद्देनज़र क्रेडिट ब्यूरो आपका क्रेडिट स्कोर कम कर देगा।
  • कम समय में कई लोन या क्रडिट कार्ड के लिए आवेदन करना: जब भी आप पर्सनल लोन या क्रेडिट कार्ड के लिए आवेदन करते हैं, बैंक / लोन संस्थान सबसे पहले आपकी क्रेडिट योग्यता का मूल्यांकन करने के लिए क्रेडिट ब्यूरो से आपकी क्रेडिट रिपोर्ट मांगते हैं। इसे हार्ड-इन्क्वायरी कहा जाता है। जब भी आपके बारे में हार्ड-इन्क्वायरी होती है तो आपका क्रेडिट स्कोर कुछ पॉइंट कम हो जाता है। इसलिए, कम समय में कई लोन या क्रेडिट कार्ड के लिए आवेदन करने से बचें, इससे आपका क्रेडिट स्कोर काफी प्रभावित हो सकता है।
  • समय-समय पर अपनी क्रेडिट रिपोर्ट चेक नहीं करना: आपकी क्रेडिट रिपोर्ट में बैंक या ब्यूरो की प्रशासनिक कमी के कारण गलतियां हो सकती हैं। इस तरह की गलत जानकारी से आपका क्रेडिट स्कोर प्रतिकूल ढंग से प्रभावित हो सकता है। इसलिए, अपनी क्रेडिट रिपोर्ट को नियमित रूप से चेक करें और अगर आपको अपनी रिपोर्ट में ऐसी कोई गलत जानकारी मिलती है तो उसकी सूचना क्रेडिट ब्यूरो को दें ताकि उसमें सुधार हो सके।
  • क्रेडिट मिक्स: आप कितने सिक्योर्ड और अन-सिक्योर्ड लोन लेते हैं इसका मिश्रण क्रेडिट मिक्स होता है। कार या होम लोन जैसे अधिक सिक्योर्ड लोन लेने वाले उधारकर्ताओं को क्रेडिट ब्यूरो अधिक क्रेडिट स्कोर वाली कैटेगरी में रखते हैं। इसलिए, जिन आवेदकों का क्रेडिट स्कोर कम है, वे सुधार के लिए सिक्योर्ड क्रेडिट सुविधाओं का अधिक उपयोग करना शुरू कर सकते हैं।

कम सिबिल स्कोर के बावजूद पर्सनल लोन लेने के लिए सुझाव

यह हमेशा ज़रूरी नहीं कि कम सिबिल स्कोर होने पर आपके लोन आवेदन को मंज़ूरी नहीं ही मिलेगी। जिन लोगों का सिबिल स्कोर कम है या जिन्होंने नया-नया क्रेडिट लिया है, उन लोगों के लिए कुछ तरीके नीचे बताए गए हैं जिनको अपनाकर वे भी पर्सनल लोन प्राप्त कर सकते हैं।

  • आय- अगर लोन ईएमआई का भुगतान करने के लिए आपके पास पर्याप्त इनकम है तो बैंक/ लोन संस्थान कम क्रेडिट स्कोर होने के बावजूद आपके पर्सनल लोन के आवेदन को मंज़ूरी दे सकते हैं।
  • अपनी कंपनी/ नियोक्ता और बैंक/ लोन संस्थान के बीच संबंध के बारे में जानें: अगर आप जाने-माने कॉर्पोरेट/ बहुराष्ट्रीय कंपनी या सार्वजनिक क्षेत्र के संगठन के लिए काम करते हैं तो बैंक/ लोन संस्थान दूसरों की तुलना में आपकी आय को लेकर निश्चिंत हो जाते हैं कि आप समय पर लोन का भुगतान कर सकते हैं। इसलिए ऐसे आवेदकों को उनकी ईएमआई भुगतान क्षमता, नौकरी की स्थिरता और उनके नियोक्ताओं की प्रतिष्ठा के आधार पर लोन आवेदन को मंज़ूरी मिल सकती है।
  • एनबीएफसी और डिजिटल उधारदाताओं पर विचार करें: कई एनबीएफसी और नए ज़माने के डिजिटल लोन संस्थान कम क्रेडिट स्कोर वाले आवेदकों की पर्सनल लोन प्रदान करते हैं। हालांकि, ऐसे एनबीएफसी द्वारा ऑफर की जाने वाली ब्याज दरें अन्य बैंक/ लोन संस्थानों की तुलना में अधिक होती हैं।
  • सह-आवेदक के साथ आवेदन करें: कम सिबिल स्कोर के मामले में, आप अपने परिवार के किसी कमाने वाले सदस्य को सह-आवेदक बनाकर पर्सनल लोन के लिए आवेदन कर सकती हैं। इससे बैंक/ लोन संस्थान के लिए आपको लोन देने का जोखिम कम हो जाता है क्योंकि इस स्थिति में सह-आवेदक भी लोन का भुगतान करने के लिए उतना ही ज़िम्मेदार होता है कि जितना कि आप। इसके लिए आपके सह- आवेदक का क्रेडिट स्कोर अच्छा होना चाहिए। इसलिए, यदि आपका क्रेडिट स्कोर कम है और आपको पर्सनल लोन लेने में परेशानी आ रही है तो हमारी सलाह है कि सह-आवेदक के साथ आवेदन करें।
  • पर्सनल लोन की कम राशि का चुनाव करें: यदि आप लोन की कम राशि के लिए आवेदन करते हैं तो इससे आपको भी उसका भुगतान करने में आसानी होगी और बैंक/ लोन संस्थान को भी आपको लोन देते समय कम ज़ोखिम होगा। ऐसे मामले  में क्रेडिट स्कोर कम होने के बावजूद बैंक/ लोन संस्थान आपको पर्सनल लोन देने के लिए राज़ी हो सकता है।
  • कोलैटरल लोन: यदि आप पर्सनल लोन नहीं ले पा रही हैं, तो आप एक सिक्योर्ड लोन के लिए आवेदन कर सकती हैं। कम क्रेडिट स्कोर वाली आवेदक लोन प्राप्त करने के लिए ज़मीन, फिक्स्ड डिपॉज़िट, सोना गिरवी रखकर लोन ले सकती हैं।

पर्सनल लोन लेने के लिए एक अच्छा सिबिल स्कोर होना ज़रूरी है लेकिन अगर आपका स्कोर अच्छा नहीं भी है तो ऊपर दी गई जानकारी आपको पर्सनल लोन प्राप्त करने में मदद कर सकती है। हालांकि, अगर आप चाहते हैं कि आपके सामने ऐसी परिस्थिति न बने तो आपको नियमित रूप से अपने क्रेडिट स्कोर को चेक करना चाहिए और समय के साथ इसे बेहतर बनाने के लिए कदम उठाने चाहिए, ताकि सिबिल स्कोर से आपके लोन आवेदन को मंज़ूरी मिले, न कि रुकावट की वजह बने।