किसानो को मालामाल करेगी बादाम की खेती, कम लागत में होगा तगड़ा मुनाफा, जाने उन्नत खेती की डिटेल

Written by Ashish

Published on:

किसानो को मालामाल करेगी बादाम की खेती, कम लागत में होगा तगड़ा मुनाफा, जाने उन्नत खेती की डिटेल, एक समय था जब बादाम की खेती केवल जम्मू-कश्मीर और हिमाचल प्रदेश जैसे ठंडे पहाड़ी इलाकों में ही की जाती थी, लेकिन अब इसकी खेती मैदानी इलाकों में भी होने लगी है। इसका कारण बदलती तकनीक है, जिसके कारण उन्नत किस्म के बीज विकसित किये गये हैं। बाजार में बादाम की मांग काफी बढ़ गई है क्योंकि लोग इसके स्वास्थ्य लाभों के बारे में पहले से ज्यादा जानने लगे हैं। ऐसे में किसान बादाम की खेती से मालामाल हो सकते हैं.

यह भी पढ़ें :-Iphone की अकड़ तोड़ने आया Oppo Reno 8T 5G स्मार्टफोन, 108MP कैमरा क्वालिटी और फीचर्स के साथ देखिए कीमत

बादाम की खेती कैसे की जाती है?

हम किसानो के लिए एक अच्छी खबर लेकर आये है. आजकल सभी किसान परम्परागत खेती छोड़ कर अढ़ुकि खेती की और अगसर हो रहे है. तथा समतल, बलुई, दोमट चिकनी मिट्टी तथा गहरी उपजाऊ मिट्टी इसकी खेती के लिए उपयुक्त मानी जाती है। इसके लिए रोपण से पहले गड्ढे तैयार किये जाते हैं. इनमें खूब सारा गोबर खाद और केंचुआ खाद मिलाया जाता है। पौधे से पौधे की दूरी 5-6 मीटर होनी चाहिए. बादाम की कुछ उन्नत किस्मों में नॉन-पैरिल, कैलिफ़ोर्निया पेपर शेल, मेरेड, आईएक्सएल, शालीमार, मखदूम, वारिस, प्रणयज, प्लस अल्ट्रा, प्रिमोर्स्कीज, पीयरलेस, कार्मेल, थॉम्पसन, प्राइस, बट्टे, मोंटेरी, रूबी, फ्रिट्ज़, सोनोरा शामिल हैं। , पाद्रे. शामिल हैं। बादाम की इस किस्म की खेती करके आप अच्छा मुनाफा कमा सकते हैं.

किसानो को मालामाल करेगी बादाम की खेती, कम लागत में होगा तगड़ा मुनाफा, जाने उन्नत खेती की डिटेल

यह सेहत के लिए बहुत फायदेमंद है

हम आपको बता दें कि भारत में बादाम की गिरी काफी पसंद की जाती है. खासतौर पर इसलिए क्योंकि यह पोषक तत्वों और औषधीय गुणों से भरपूर होता है। दवाइयों और सौंदर्य उत्पादों में भी इसकी मांग है। खराब कोलेस्ट्रॉल को कम करने में बादाम बहुत फायदेमंद साबित होता है। और इससे हार्ट अटैक का खतरा भी कम हो जाता है. और इसके साथ ही बादाम खाने से दिमाग भी तेज होता है। इसके अलावा बादाम दांतों और हड्डियों को मजबूत बनाने में भी फायदेमंद होता है।

बादाम की खेती में ध्यान रखें ये बातें

  • अगर आप बादाम की खेती कर अच्छी पैदावार चाहते हैं तो इसके साथ ही मधुमक्खी पालन भी करें, जो आपके पौधों में परागण को बढ़ाएंगी, जिससे उत्पादन अधिक होगा।
  • बादाम की खेती करने से पहले अधिक उत्पादन के लिए कृषि विशेषज्ञ से अपनी अपनी मिट्टी की जांच जरूर करवा लें और इसके साथ ही जलवायु के हिसाब से ये भी पता कर लें कि किस किस्म के बादाम उगाने चाहिए। अलग-अलग जलवायु के हिसाब से अलग-अलग किस्म होती है। गलत किस्म लगाने से उत्पादन पर असर पड़ता है।
  • गर्मियों में हर 10 दिन में सिंचाई करनी चाहिए, जबकि ठंड में 20-25 दिन में सिंचाई करनी होती है।
  • बादाम के पौधों को हवा से बचाने के लिए उसे बांस से सहारा देना चाहिए।
  • बादाम की खेती के साथ-साथ अन्य तरह की सब्जियां भी उगाई जा सकती हैं।

यह भी पढ़ें :-Iphone के तोते उड़ा देंगा Realme का तगड़ा स्मार्टफोन, झक्कास कैमरा क्वालिटी और फीचर्स के साथ देखिए कीमत

बादाम की खेती में इतना होगा मुनाफा

किसानो को मालामाल करेगी बादाम की खेती, कम लागत में होगा तगड़ा मुनाफा, जाने उन्नत खेती की डिटेल, आपको बता दे की आमतौर पर बादाम का पेड़ 3-4 साल में फल देना शुरू कर देता है, लेकिन अच्छी तरह से फल देने में बादाम के पेड़ को लगभग 6 साल का समय लग जाता हैं। और इसकी खेती करने में अच्छी बात ये है कि बादाम के पेड़ एक बार लगाने के बाद 50 साल तक फल देते रह सकते हैं। आपको बता दे की अलग-अलग किस्म के हिसाब से अलग-अलग उत्पादन होता है, इस वजह से मुनाफा भी कम-ज्यादा हो सकता है। और मार्केट में बादाम की कीमत 600 रुपए से 1000 रुपए प्रति किलोग्राम होती है। एक पेड़ से 2-2.5 किलो सूखे बादाम हर साल मिलते हैं। इसका मतलब आपको पहली बार खेती में खर्च करना होगा और फिर उसके बाद बस रख-रखाव करते रहें और फायदा कमाते रहें। वहीं बादाम के खेत में अन्य सब्जियों की खेती भी करें, जिससे आपका मुनाफा और अधिक बढ़ेगा।