Health

Madhumalti Plant benefits: स्वास्थ्य सेहत के लिए बेहद गुणकारी है मधुमालती, जानिए इसके सेवन से होने 6 फायदे

Madhumalti Plant benefits: स्वास्थ्य सेहत के लिए बेहद गुणकारी है मधुमालती, जानिए इसके सेवन से होने 6 फायदे, फूल अक्सर लोगों को आकर्षित करते है ऐसा ही एक फूल है मधुमालती का यह बेहत ज्याद खुबसूरत होने के साथ में सेहत को भी कई लाभ देता है। मधुमालती के पौधे का इस्तेमाल औषधीय के रूप में किया जाता है। आपको बता दें मधुमालती के पौधे में कई औषधीय गुण मौजूद होते है। जो सेहत के लिए काफी ज्यादा लाभदायक होते है। मधुमालती के पौधे का लगभग हर भाग का आयुर्वेदिक उपचार में प्रयोग होता है।तो आइये जानते है मधुमालती से होने वाले चमत्कारी फायदे के बारे में।

यह भी पढ़े:-किसानो को मालामाल करेगी बादाम की खेती, कम लागत में होगा तगड़ा मुनाफा, जाने उन्नत खेती की डिटेल

मधुमालती पौधे के फायदे

सर्दी-जुकाम और कफ की दिक्कत

अगर आपको ज्यादा सर्दी-जुकाम और गले में कफ जम रहा है तो आप 1 ग्राम तुलसी के पत्ते, 2-3 लौंग, 1 ग्राम मधुमालती के फूल और पत्ते को एक साथ उबालकर कड़ा बनाकर पी सकते है। जिससे जल्द ही आराम लग जायेगा।

पाचन में करें सुधार

मधुमालती पौधे का उपयोग पारंपरिक रूप से कब्ज, दस्त और पेचिश जैसी पाचन समस्याओं के इलाज के लिए किया जाता रहा है। इसके अतिरिक्त, पौधे में टैनिन और अन्य यौगिक होते हैं जिनमें कसैले गुण होते हैं, जो सूजन को कम करने और मल त्याग को बढ़ावा देने में मदद करते हैं।

डायबिटीज की समस्या

मधुमालती डायबिटीज के रोगियों के लिए भी बहुत ज्यादा फायदेमन्द है। अगर डायबिटीज का पेसेंट को मधुमालती के 5-6 पत्तों या फूल का रस निकालकर पीने को दिया जाये तो इससे डायबिटीज को कण्ट्रोल किया जा सकता है।

यह भी पढ़े:-White Hair: सफेद बालो से हैं परेशान, तो अपनाएं ये आसान घरेलू उपाय, सारे बाल हो जाएंगे काले

ल्यूकोरिया या श्वेत प्रदर

मधुमालती की पत्तीयों में में ब्रोंकोडाईलेटर गुण होते हैं, जो श्वसन और अस्थमा के रोग को दूर करने में मदद करती है। इसके इलाज के लिए मधुमालती की पत्ती और फूल का रस पियें।

किडनी के लिए है फायदेमंद

मधु मालती की पत्तियों और फल से किडनी की सूजन और जलन का उपचार किया जाता है। अगर आप इसकी पत्तियों को पानी में उबाल कर पीने से बुखार से उठे दर्द में आराम मिलता है।

दांत दर्द में दे राहत

अगर आपको दांतों में दर्द है तो मधुमालती के फलों का काढ़ा दांतदर्द ठीक करता है। मधुमालती की जड़ो का काढ़ा पेट के कीड़े निकालने और डायरिया के इलाज में फायदा करता है। इस काढ़े से गठिया रोग में भी आराम मिलता है।

Back to top button