धर्म

हिंदू धर्म में क्यों की जाती है पीपल के पेड़ की पूजा? जानिए पूजा करने के लाभ और महत्व

सनातन धर्म में पीपल के पेड़ बहुत ही पुज्य्नीय है। ऐसी मान्यता है कि पीपल के पेड़ में कई देवताओं का वास होता है। मुख्य रूप से पीपल के वृक्ष में भगवान विष्णु और माता लक्ष्मी का भी वास माना गया है, इसलिए पीपल की पूजा करने से न केवल पुण्य की प्राप्ति होती है। पीपल के पेड़ की पूजा करने से पितरों का भी आशीर्वाद मिलता है। मान्यता के मुताबिक पेड़ की पूजा करने से जीवन में सुख-समृद्धि आती है. पीपल के पेड़ की परिक्रमा का भी विशेष महत्व है। आइये जानते है हिन्दू धर्म में पीपल के पेड़ की पूजा को शुभ मानने के बारे में.

यह भी पढ़े:-New Rules March 2024: 1 मार्च से बदल जायेंगे कई नियम, आपकी जेब पर पड़ेगा सीधा असर, पढ़े पूरी खबर

पीपल का पेड़ है शुभ एवं लाभकारी

अक्सर सभी मंदिरों में पीपल का पेड़ लगा रहता है। इसके साथ ही पीपल में पितरों और तीर्थों का निवास होता है। इसी कारण से पीपल के पेड़ की पूजा और पीपल का पेड़ लगाना चेतना शुभ और लाभकारी माना जाता है। चित्रकूट में पीपल के वृक्ष किसी भी जगह दिखना बेहद शुभ माना जाता है।

पीपल के पेड़ की पूजा करने से लाभ

पितृदोष से मिलेगी मुक्ति

रोजाना पीपल की जड़ में जल अर्पित करने से पितरों का आशीर्वाद प्राप्त होता है। वहीं पीपल के पेड़ के नीचे शनिवार को दीपक जलाने का भी महत्व है। इसलिए पीपल के पौधे लगाना शुभ होता है। नियमित पीपल के पेड़ की पूजा करने से पितृदोष से मुक्ति मिल जाती है।

यह भी पढ़े:-Old Saree Styling: पुरानी साड़ी को इस खास तरीके से करें ट्राई, आप नजर आएंगी मॉडर्न

शनि दोष होगा नष्ट

ऐसी मान्यता है कि शनिवार के दिन पीपल के पेड़ में जल चढ़ाने और तेल का दीपक जलाने से शनि की साढ़े साती और ढैय्या से भी छुटकारा मिल जाता है। इसके साथ ही पीपल के पेड़ की परिक्रमा भी जरूर करना चाहिए।

सभी देवी-देवताओं की बरसेंगी कृपा

आपको बता दें, रोजाना पीपल के पेड़ की पूजा करने से देवी-देवताओं का आशीर्वाद मिलता है। साथ ही, आपके परिवार पर माता लक्ष्मी की कृपा बनी रहती है। क्योंकि इस वृक्ष में सभी देवी-देवताओं का वास होता है। इसके साथ ही अक्षय पुष्ण की प्राप्ति होती है।

Back to top button