Sunday, September 25, 2022
Homeदेश की खबरेIndian Railways: रेलमंत्री ने किया बड़ा ऐलान अब किसी भी हाल में...

Indian Railways: रेलमंत्री ने किया बड़ा ऐलान अब किसी भी हाल में महिलाओ को मिलेगी कन्फर्म सीट,जाने पूरी खबर

Indian Railways: रेलमंत्री ने किया बड़ा ऐलान अब किसी भी हाल में महिलाओ को मिलेगी कन्फर्म सीट,जाने पूरी खबर लंबी दूरी की मेल और एक्सप्रेस ट्रेनों में स्लीपर क्लास में छह बर्थ का आरक्षण कोटा और गरीब रथ, राजधानी, दुरंतो सहित पूरी तरह से वातानुकूलित एक्सप्रेस ट्रेनों के थर्ड एसी कोच (3एसी क्लास) में छह बर्थ का आरक्षण महिला यात्रियों के लिए कोटा तय किया गया है। रेलवे ने महिलाओं के लिए बड़ा ऐलान किया है. अब महिलाओं को ट्रेन में सीट के लिए परेशान नहीं होना पड़ेगा। रेल मंत्री ने महिलाओं की सुविधा को ध्यान में रखते हुए बड़ा ऐलान किया है. जिस तरह बसों और मेट्रो ट्रेनों में महिलाओं के लिए अलग-अलग सीटें रिजर्व होती हैं, उसी तरह अब भारतीय रेलवे भी महिलाओं के लिए सीट रिजर्व करेगी।

अब भारतीय रेलवे द्वारा लंबी दूरी की ट्रेनों में भी महिला यात्रियों के लिए ट्रेनों में महिला यात्रियों के लिए विशेष बर्थ बनाए गए हैं। साथ ही माह के अंत तक महिलाओं की सुरक्षा के लिए भी योजना तैयार की जाएगी। केंद्रीय रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने कहा कि लंबी दूरी की ट्रेनों में महिलाओं की आरामदायक यात्रा के लिए भारतीय रेलवे ने रिजर्व बर्थ समेत कई सुविधाएं शुरू की हैं.

 आरक्षित बर्थ रहगी महिलाओ के लिए

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि लंबी दूरी की मेल और एक्सप्रेस ट्रेनों में स्लीपर क्लास में छह बर्थ आरक्षित होंगी. गरीब रथ, राजधानी, दुरंतो सहित पूरी तरह से वातानुकूलित एक्सप्रेस ट्रेनों के थर्ड एसी कोच (3एसी क्लास) में महिला यात्रियों के लिए छह बर्थ आरक्षित की गई हैं।

स्लीपर कोच में भी आरक्षण 

प्रत्येक स्लीपर कोच में छह से सात लोअर बर्थ, वातानुकूलित 3 टियर (3 एसी) कोच में चार से पांच लोअर बर्थ और वरिष्ठ नागरिकों के लिए वातानुकूलित 2 टियर (2 एसी) कोच में तीन से चार लोअर बर्थ। (वरिष्ठ नागरिक), 45 वर्ष और उससे अधिक की महिला यात्रियों और गर्भवती महिलाओं के लिए आरक्षित किया गया है। आपको बता दें कि ट्रेन में उस क्लास के कोचों की संख्या के आधार पर रिजर्वेशन किया जाएगा।

 विशेष इंतजाम 

रेल मंत्री ने कहा, ‘ट्रेनों में महिला यात्रियों की सुरक्षा के लिए विशेष इंतजाम किए गए हैं. भारत के संविधान की सातवीं अनुसूची के तहत ‘पुलिस’ और ‘लोक व्यवस्था’ राज्य के विषय हैं, हालांकि, रेलवे सुरक्षा बल (आरपीएफ) जीआरपी और जिला पुलिस यात्रियों को बेहतर सुरक्षा प्रदान करेगी।’

इसके साथ ही ट्रेनों और स्टेशनों पर महिला यात्रियों के साथ-साथ अन्य यात्रियों की सुरक्षा के लिए रेलवे की ओर से जीआरपी की मदद से कदम उठाए जा रहे हैं. रेलवे सुरक्षा बल ने पिछले साल ट्रेनों से यात्रा करने वाली महिला यात्रियों को उनकी यात्रा के दौरान सुरक्षा प्रदान करने के उद्देश्य से एक अखिल भारतीय पहल ‘मेरी सहेली’ शुरू की थी।