Wednesday, October 5, 2022
HomeमनोरंजनRanveer Singh:रणवीर सिंह के सपोर्ट में उत्तरी पूनम पाण्डे,बोली- रणवीर ने कोई...

Ranveer Singh:रणवीर सिंह के सपोर्ट में उत्तरी पूनम पाण्डे,बोली- रणवीर ने कोई अपराध नहीं किया

Ranveer Singh:रणवीर सिंह के सपोर्ट में उत्तरी पूनम पाण्डे,बोली- रणवीर ने कोई अपराध नहीं किया,एक्टर रणवीर सिंह के न्यूड फोटोशूट पर बवाल मचा है. पिछले कुछ दिनों में एक्टर पर दो केस फाइल हो चुके हैं. देश में इसपर बहस चल रही है. हर कोई अपनी राय रख रहा है. कुछ इनमें से एक्टर को ट्रोल करने में लगे हुए हैं. वहीं, पूनम पांडे ने रणवीर सिंह को सपोर्ट करते हुए उनके बचाव में अपनी बात रखी है. पूनम पांडे को पता ही नहीं था कि रणवीर सिंह के न्यूड फोटोशूट पर केस रजिस्टर हो चुका है. पूनम पांडे को जब पता लगा तो वह दंग रह गईं।

एक्ट्रेस का कहना है कि रणवीर सिंह ने कोई क्राइम नहीं किया है जो लोग इतना पागल हो रहे हैं. मीडिया संग बातचीत में पूनम पांडे ने कहा, “केस हुआ है? बाप रे. बहुत खराब चीज है ये तो. मुझे नहीं लगता कि उन्होंने कोई क्राइम किया है. खराब चीज है न? अगर किसी इंसान को फोटोशूट कराना है तो इसमें दिक्कत क्या है. कोई भी किसी भी तरह का फोटोशूट कराने के लिए स्वतंत्र है।

पूनम पांडे ने आगे कहा कि मुझे पर्सनली नहीं लगता कि लोग उन्हें ट्रोल कर रहे हैं. जितने कॉमेंट्स मैं पढ़ रही हूं, उन्हें पढ़कर तो ऐसा नहीं लगा. बल्कि, मुझे ऐसा लगता है कि उन्होंने मुझे मेरे गेम में हरा दिया है. मुझे लगता है कि रणवीर सिंह का वह फोटोशूट काफी अद्भुत है. अगर आप उन फोटोज को क्रिएटिव मैनर में देखें तो हम सभी आर्टिस्ट्स हैं. उनकी इज्जत करनी चाहिए, उन्हें परेशान करने की जगह. बतौर ऑडियन्स हमें आगे बढ़ना चाहिए. सोच को बेहतर करना चाहिए. मैं यह नहीं कह रही हूं कि अपनी सोच को बड़ा करने के लिए हमें नेकेड हो जाना चाहिए, लेकिन इसे एंटरटेनमेंट की तरह जरूर देखना चाहिए।

वहीं न्यूड फोटोशूट करवाकर रणवीर सिंह फंसते जा रहे हैं. मुंबई में उनके खिलाफ केस दर्ज कर लिया गया है. उनके खिलाफ ये मुंबई के चेंबूर थाने में दर्ज किया गया है. ये FIR चेम्बूर के रहने वाले ललित टेकचंदानी ने दर्ज करवाई है. रणवीर पर महिलाओं की भावनाएं आहत करने और गरिमा को नुकसान पहुंचाने का आरोप है. रणवीर पर इंडियन पीनल कोड (IPC) की धारा 292, 293, 509 और इन्फोर्मेशन टेक्नोलॉजी (IT) एक्ट की धारा 67(A) के तहत केस दर्ज किया गया है।