Wednesday, October 5, 2022
HomeAstrologyसास बहू में रोज अनबन बनी रहती है तो अपनाये ये उपाय,बढ़ेगा...

सास बहू में रोज अनबन बनी रहती है तो अपनाये ये उपाय,बढ़ेगा सास-बहू का प्यार

SAS BAHU ME ANBAN HO TO APNAYE YE UPAY :- सास-बहू, ये दो ऐसे जीव हैं, जिनके बीच कभी कोई संबंध नहीं होता। सास-बहू का विवाद जगजाहिर है। सामाजिक, पारिवारिक और मनोवैज्ञानिक कारणों से उनके बीच हमेशा अनबन बनी रहती है। आस-पास के लोग अपने रिश्ते को बेहतर बनाने के लिए हर संभव प्रयास करते हैं लेकिन कोई सफलता नहीं मिलती है। ऐसे में आप कुछ ज्योतिषीय उपायों को आजमाकर उनके बीच संबंध बेहतर कर सकते हैं।

इन 8 उपायों से बढ़ेगा सास-बहू का प्यार These 8 measures will increase the love of mother-in-law and daughter-in-law

  1. सूर्योदय से पहले घर में झाड़ू जरूर लगाएं। साथ ही घर का सारा कचरा बाहर फेंक दें। इससे घर की नकारात्मक ऊर्जा भी दूर होगी। घर में सकारात्मक ऊर्जा बनी रहेगी। इससे सास-बहू के बीच कोई झगड़ा नहीं होगा।
  2. बहू सुबह जल्दी उठकर नहाती हैं। फिर सूर्योदय होते ही गुड़ के जल का जल सूर्य देव को अर्पित करें। उनके आशीर्वाद से घर में खुशियां बनी रहेंगी। लड़ाई-झगड़े नहीं होंगे।
  3. मंगलवार के दिन बहू को सूजी का हलवा बनाना चाहिए. फिर इसे मंदिर के बाहर गरीबों में बांट दें। आप चाहें तो सास-बहू को भी थाली खिलाएं। इससे आपके बीच के रिश्ते मधुर होंगे।
  1. सास-बहू को हमेशा चांदी या टैबलेट का चौकोर टुकड़ा अपने पास रखना चाहिए। चांदी को शुभ माना जाता है। यह नकारात्मक ऊर्जा को दूर रखता है। इससे मन में अच्छे विचार आते हैं।
  2. अगर सास-बहू एक-दूसरे को 12 लाल और 12 हरे कांच की चूड़ियां प्यार से दें तो दोनों के रिश्ते मधुर हो सकते हैं। बस आपको इसे पूरी श्रद्धा के साथ करना है।
  3. रोज सुबह-शाम घर में बहू की पूजा करें। पूजा के बाद माथे पर हल्दी या केसर की बिंदी लगाएं। साथ ही भोलेनाथ की पूजा करें और घर में सुख शांति की प्रार्थना करें।
  4. बहू रोज सुबह उठकर सास के पैर छूती है। साथ ही सास भी बहू को गले लगाकर आशीर्वाद देती है। ऐसा करने से दोनों के बीच प्यार बना रहेगा।
  5. अगर सास-बहू थोड़ा सा भी नहीं बना पा रही हैं तो दोनों में से किसी एक को लाल रंग की गोल्डन साड़ी मां दुर्गा या फिर मां गौरी को अर्पित करनी चाहिए। इसके बाद यह साड़ी अपनी बहू या सास को गिफ्ट करें। दोनों मां और बेटी की तरह होंगे।

Disclaimer : यहां दी गई सभी जानकारी सामाजिक और धार्मिक मान्यताओं पर आधारित है। ग्रामीण मिडिया इसकी पुष्टि नहीं करता है।