धर्म

Sita Ashtami 2024: आज है सीता अष्टमी, इस शुभ मुहूर्त में करें पूजा और जानें पूजन विधि

Sita Ashtami 2024: हिंदू पंचांग के अनुसार, हर साल फाल्गुन मास के कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि को मां सीता जयंती मनाई जाती है। सीता अष्टमी के दिन कई महिलाएं घर-परिवार की सुख-शांति और पति की लंबी उम्र के लिए व्रत भी करती हैं। जनक की पुत्री होने की वजह से माता सीता को जानकी कहा जाता है। रामायण के मुख्य पात्रों में माता सीता का नाम बेहद प्रचलित है। इस दिन मां सीता के साथ भगवान राम का भी पूजन किया जाता है। तो आइये जानते है सीता अष्टमी के शुभ मुहूर्त और पूजा विधि के बारे में.

यह भी पढ़े:-Tata Punch को अकड़ना भुला देगी आई Nissan Magnite, दनादन फीचर्स के साथ मिलेगा सॉलिड इंजन, देखे कीमत

सीता अष्टमी का शुभ मुहूर्त

पंचांग के अनुसार, फाल्गुन माह में कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि का प्रारम्भ 03 मार्च 2024 को सुबह 08 बजकर 44 मिनट पर हो रहा है। वहीं, अष्टमी तिथि का समापन 04 मार्च को सुबह 08 बजकर 49 मिनट पर होगा। ऐसे में उदया तिथि के अनुसार जानकी जयंती 04 मार्च, सोमवार के दिन मनाई जाएगी। इस दिन माता सीता की विधि-विधान पूर्वक पूजा अर्चना की जाती है।

यह भी पढ़े:-Iphone को धूल चटा देगा Vivo का 5G स्मार्टफोन, अमेजिंग कैमरा क्वालिटी और दमदार बैटरी के साथ देखे कीमत

सीता अष्टमी की पूजा विधि

  • मां सीता जयंती के दिन प्रातः जल्दी उठकर स्नान करके स्वच्छ वस्त्र धारण करें।
  • इसके बाद मंदिर की साफ-सफाई करें और मां सीता का ध्यान करें।
  • अब मंदिर में चौकी पर भगवान श्रीराम और माता सीता की मूर्ति या तस्वीर स्थापित करें।
  • इस दौरान माता सीता को श्रृंगार की चीजें भी जरूर अर्पित करें।
  • ऐसा करने से अखंड सौभाग्य का आशीर्वाद प्राप्त हो सकता है।
  • इसके बाद माता सीता को फल, पुष्प, धूप-दीप, दूर्वा आदि चीजें चढ़ाये।
  • पूजन होने के बाद राम जी और सीता जी की आरती करें।
  • अंत में सभी लोगों में भोग को प्रसाद के रूप में वितरित करें।
Back to top button