तुलसी के पत्ते खाने से हो सकते हैं ये 5 साइड इफेक्ट! आज ही बंद करें तुलसी चबाना

Written by Ankita

Published on:

Tulsi Is Dangerous For Chewing : वैसे तो तुलसी में कई औषधीय गुण होते हैं, जिससे मौसमी बीमारियों के साथ ही कैंसर जैसी घातक बीमारी में भी संजीवनी का काम करती है। लेकिन तुलसी चबाने पर मौजूद पारा आपके मुंह में चला जाता है, जो आपके दांतों को नुकसान पहुंचा सकता है और उनका रंग खराब कर सकता है. इसके अलावा, तुलसी की पत्तियां अम्लीय प्रकृति की होती हैं और आपका मुंह क्षारीय होता है, जिससे आपके दांतों का इनेमल जल्दी खराब हो सकता है. तो आइये जानते है क्यों नहीं करना चाहिए तुलसी के पत्तों का सेवन

यह भी पढ़े:-83kmpl के माइलेज से Platina को मात दे रही Hero की दमदार बाइक, शानदार फीचर्स के साथ देखे कीमत

तुलसी के पत्तों का प्रतिदिन सेवन करने से हमारी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ने सहित कई स्वास्थ्य लाभ होते हैं. लेकिन आपको बता दें कि तुलसी को चबाना सबसे खतरनाक है. वहीं, पूर्वजों की मान्यता है कि तुलसी को चबाने से तुलसी माता को दर्द होता है.

अधिकतर कई लोगों के घर पर तुलसी लगी होती है लेकिन सही असर के लिए तुलसी का सेवन सही तरीके से करना बहुत जरूरी है. और तुलसी चबाने से आप उन स्वास्थ्य लाभों से चूक सकते हैं और कुछ दुष्प्रभाव भी हो सकते हैं.

जिन लोगों को दांतों से संबंधित समस्या रहती है उन लोगों को तुलसी का सेवन करने से बचना चाहिए. वहीं साइंस की तर्क से तुलसी के पत्तों में पारा होता है, जो इनेमल के लिए अच्छा नहीं है और इसलिए इन्हें चबाना नहीं चाहिए.

तुलसी रक्त शर्करा के स्तर को कम कर सकती है। लेकिन अगर कोई पहले से ही मधुमेह के लिए दवाएं ले रहा है तो तुलसी के पत्तों का सेवन प्रभाव बढ़ा सकता है और शर्करा का स्तर बहुत कम हो सकता है।

यह भी पढ़े:-How To Get Rid of Rats: बस एक बार आजमाले ये 5 आसान टिप्स, बिना मारे घर से भागते नजर आएंगे चूहें

आपको बता दें कि डायबिटीज के रोगियों को भी तुलसी के पत्तों का सेवन नहीं करना चाहिए। तुलसी चबाने से समस्या और बढ़ सकती है.

गर्भवती और स्तनपान कराने वाली महिलाओं, जो महिलाएं गर्भवती होने की कोशिश कर रही हैं, और टाइप 2 मधुमेह, हाइपोथायरायडिज्म वाले लोगों और सर्जरी से गुजरने वाले लोगों को पवित्र तुलसी से बचना चाहिए।

अगर आप तुलसी के पत्तों का सेवन करना ही चाहते है तो इसके लिए आपको सूखे तुलसी के पत्तों का पाउडर बनाकर तैयार करना होगा। इस पाउडर को आप 2 बड़े चम्मच घी में 1/2 चम्मच तुलसी पाउडर मिला सकते हैं इसके आलावा पाउडर को दाल और चपाती के साथ खा सकते हैं.

Leave a Comment