खेती-किसानी

Tulsi Plant Care: बार-बार सूख जाता है तुलसी का पौधा, तो अपनाएं ये आसान उपाय, हो जाएगा हरा-भरा

Tips to make basil plant green: गर्मियों के मौसम में अक्सर पानी की कमी के वजह से पेड़ -पौधे सूखने लगते है। ऐसे में अगर आपके घर में लगा तुलसी का पौधा सुख रहा है तो कुछ उपायों की मदद से उसे वापस से हरा-भरा कर सकते है। तुलसी का पौधा बहुत ही महत्वपूर्ण माना जाता है। तुलसी का पौधा अधिकतर लोगों के घर में पाया जाता है, लेकिन ध्यान न रखने के कारण बेजान और खराब हो जाता है। जबकि बार-बार तुलसी का पौधा सुखना अशुभ माना जाता है। आप कुछ टिप्स की मदद से लम्बे समय तक तुलसी के पौधे को हरा-भरा रख सकते है। चलिए जानते टिप्स के बारे में।

यह भी पढ़े:-7 हजार रु में Vivo का तगड़कता भड़कता स्मार्टफोन, आते ही तगड़े कैमरे के साथ दमदार स्पेसिफिकेशन से करेंगा राज

पौधे में ऐसी मिट्टी का करे इस्तेमाल –

अगर आप कई दिनों से एक ही मिट्टी में तुलसी का पोधा लगा रहे है तो आप मिट्टी को बदल दें। क्योंकि ज्यादा पानी डालने की वजह से मिट्टी में फंगस लग जाती है। ऐसे में पौधे का खास ख्याल रखना होता है। पौधा लगाने के लिए 70% मिट्टी और 30% रेत का इस्तेमाल करें। ताकि बारिश के मौसम में भी तुलसी की जड़ों में ज्यादा पानी न रुके और ज्यादा दिन तक तुलसी हरी रहे।

मिट्टी में डालें ये खास चीज़-

मिट्टी में गाय का गोबर खाद डालें। यह नेचुरल खाद पौधे को हरा-भरा करने में मदद करती है। सुखा कर इसका पाउडर जैसा फॉर्म आपको मिट्टी में डालना है। अगर आप ऐसा करते है तो इससे घर के बगीचे में गला पौधा तेजी से बढ़ेगा। और हर मौसाम में हरा भरा रहेगा।

यह भी पढ़े:-Chilli Farming: मिर्च की खेती से कुछ ही महीनों में होगी लाखो रुपए की कमाई, बस इन बातों का रखें ध्यान

पौधे में पानी देते समय रखें ध्यान-

तुलसी के पौधे में कम पानी की जरूरत होती है इसलिए अगर गमले की मिट्टी गीली है तो आप पौधे में पानी न डालें। ज्यादा पानी गर्मियों में ही डालना चाहिए। बरसात में बिल्कुल नहीं डालना और सर्दी में 4-5 दिन में एक बार डालना चाहिए। अगर आप ऐसा करते है तो तुलसी का पौधा जल्दी सड़ता नहीं है।

ऊपर की टहनी तोड़ दें-

अगर तुलसी का पौधा लम्बा ही बढ़ रहा और फेल नहीं रहा है तो आप उसकी ऊपर की टहनी काट या तोड़ दें। ऐसा करने से पौधे की ग्रोथ तेजी से बढ़ेगी। और पौधा हरा-भरा रहेगा। इस तरह से आपको तुलसी के पौधे की हर 1 हफ्ते में देखभाल करना होगा।

Back to top button