धर्म

Tulsi Plant: इस तरह से लगाएं तुलसी का पौधा, जानिए सही दिशा और श्यामा तुलसी के उपाय

Tulsi Plant: वास्तु शास्त्र के अनुसार घर में तुलसी का पौधा लगाना शुभ होता है। हिंदू धर्म में तुलसी के पौधे को देवी मां के रूप में पूजा जाता है। ऐसे में इसे एक विशेष दिशा में लगाना जरूरी होता है। आप घर की उत्तर दिशा में तुलसी का पौधा लगा सकते हैं। ऐसा कहा जाता है कि उत्तर दिशा कुबेर की दिशा होती है और इस दिशा में तुलसी का पौधा लगाने से घर में धन, सुख, शांति और समृद्धि की वृद्धि होती है। वास्तु शास्त्र के अनुसार मंगलवार और शुक्रवार को तुलसी का पौधा खरीदने के लिए सबसे शुभ दिन माना जाता है। तो आइये जानते ही तुलसी लगाने और उसके उपाय के बारे में।

यह भी पढ़े:-Strawberry Farming: स्ट्रॉबेरी की खेती करने वाले किसानों की तगड़ी कमाई, सरकार दें रही सब्सिडी

आपको बता दें कि गर्मी के दिनों में भी आप तुलसी के बीज गमले में आसानी से लगा सकती है। इसके बीज अंकुरित होने में 1-2 हफ्ते का समय लग सकता हैं, ध्यान रहे कि गमले को छाँव में रखें और समय-समय पर पानी देते रहें। आप चाहे तो नर्सरी से तैयार पौधा भी लाकर लगा सकते हैं। तुलसी के पौधे को खुली धूप और उपजाऊ मिटटी की आवश्यकता होती है।

मिट्टी में आर्गेनिक खाद या गोबर की खाद भी मिला सकते है इससे पौधे में घनी पत्तिया आएगी और तेजी से ग्रोथ वृद्धि अच्छी होगी। अगर आप तुलसी को हेल्दी और चमकदार रखना चाहते है तो आपको तुलसी का खास ख्याल रखना होगा। आप चाहे तो कई सारे तुलसी के पौधे भी लगा सकते है। ऐसे में विषम संख्‍या में तुलसी के पौधे लगाना शुभ होता है। परन्तु आपको एक चीज का ध्यान रखना होगा कि तुलसी का पौधा हमेशा पूर्व या उत्तर पूर्व दिशा में ही लगाना है। ऐसे में घर में श्यामा तुलसी लगाना शुभ होगा है। तो चलिए जानते है श्यामा तुलसी के उपाय।

यह भी पढ़े:- पीले केले के मुकाबले में लाल केले की खेती से होगी बंपर कमाई, जानें खेती करने का तरीका

जानिए श्यामा तुलसी के उपाय –

– घर में श्याम तुलसी का पौधा लगाना और पूजा करना बेहद शुभ माना जाता है। ऐसे में माँ काली और हनुमान जी को श्यामा तुलसी अर्पित करना अच्छा माना गया है।

– परिवार की सुख-शांति के लिए भी श्याम तुलसी की माला पहनना आध्यत्मिक लाभ की प्राप्ति होती है। साथ ही, श्याम तुलसी की माला दिमागी शांति मिलती है।

– श्याम तुलसी की माला सम्बन्धों और प्रेम में समस्या को सुधारने का काम भी करती है। ये माला बुरी नजर से बचाती है, निगेटिविटी दूर करती है और सकरात्मक सोच लाती है।

– श्याम तुलसी की माला पहनना नकारात्मकता दूर करने के लिए किसी रत्न की तुलना में अधिक असरकारक माना गया है। अधिक लाभ के लिए सात्विक नियमों का पालन करें।

– इसकी माला चाहे गले में धारण करें या घर के मन्दिर में रखें। इससे भगवान के प्रति भक्ति-भावना बढती है। इस माला को सोमवार, बुधवार, गुरुवार को गंगाजल और कच्चे दूध से शुद्ध करके पहनना चाहिए।

Back to top button