धर्म

Ujjaini Mahakali Temple: पीएम मोदी ने की उज्जयिनी महाकाली मंदिर में पूजा-अर्चना, जानें मंदिर की विशेषता क्यों है प्रसिध्द?

Ujjaini Mahakali Temple: साल भर भक्तों के लिए उज्जयिनी महाकाली मंदिर के दरबार खुले रहते है। उज्जयिनी महाकाली मंदिर देवी काली का प्राचीन हिंदू मंदिर है, यहां पूरे साल लाखों श्रद्धालु दर्शन करने आते है। आज पीएम मोदी तेलंगाना के सिकंदराबाद में स्थित प्राचीन श्री उज्जयिनी महाकाली मंदिर पहुंचे। यहां प्रधानमंत्री ने देवी के दर्शन किये और पूजा-अर्चना की। यह मंदिर 18वीं शताब्दी में बनाया गया था। बताया जा रहा है यह मंदिर 191 साल पुराना है।

यह भी पढ़े:-Smart Ring: स्मार्टवॉच के बाद आ रही स्मार्ट रिंग, Samsung ला रहा अपनी शानदार Samsung Galaxy Ring स्मार्टरिंग

धार्मिक मान्यता के अलावा भव्य वास्तुकला भी पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करती है। नवरात्रि में मंदिर में अलग सी रौनक देखने को मिलती है। इस मंदिर को सबसे महत्वपूर्ण मंदिर माना जाता है। मंदिर देवी काली की एक बड़ी मूर्ति है, जिसे एक भयंकर मुद्रा में चित्रित किया गया है। मूर्ति को सोने और चांदी के आभूषणों से सजाया गया है। मंदिर के गर्भगृह में भगवान शिव की एक छोटी मूर्ति भी है। भक्त देवी काली का आशीर्वाद लेने लगातार आते रहते है।

उज्जयिनी महाकाली मंदिर की विशेषताएं

मंदिर का इतिहास

उज्जयिनी महाकाली मंदिर 18वीं शताब्दी में पेशवा बाजीराव द्वितीय ने बनवाया था। मध्यप्रदेश के उज्जैन के महाकालेश्वर मंदिर की तर्ज पर किया गया था। मंदिर का जीर्णोद्धार 19वीं शताब्दी में सिंधिया राजवंश द्वारा किया गया था।

मंदिर की वास्तुकला

यह प्रसिध्द मंदिर 3 मंजिल ऊंचा और यह काले पत्थर से बना है। इसका निर्माण दक्षिण भारतीय शैली के अनुसार किया गया है। मंदिर के मुख्य द्वार पर भगवान गणेश की प्रतिमा विराजमान है। मंदिर के गर्भगृह में देवी काली की प्रतिमा स्थापित है। जो एक भयंकर मुद्रा में प्रदर्शित है। देवी काली की मूर्ति को सोने और चांदी के आभूषणों से सजाया गया है।

देवी काली की मूर्ति

मंदिर में देवी काली की मूर्ति लगभग 3 फीट ऊँची है। साथ में देवी काली सिंह पर विराजमान है। देवी के दस भुजा में विभिन्न प्रकार के शस्त्र और वस्तुएं लिए है। देवी के चेहरे पर विशाल क्रोध और शक्ति का तेज है।

यह भी पढ़े:-iPhone की खटिया खड़ी करने आया Motorola का धांसू 5G स्मार्टफोन, गजब की कैमरा क्वालिटी से साथ देखिए कीमत

मंदिर की धार्मिक महत्व

देवी काली की अनेकों शक्ति के कारण यह मंदिर कई सालों से प्रसिध्द है। श्रद्धालु माँ काली के दर्शन करने व आशीर्वाद लेने और शक्ति का अनुभव करने के लिए मंदिर आते हैं। प्रतिदिन मंदिर में कई आरती और पूजा की जाती है।

मंदिर का सांस्कृतिक महत्व

मंदिर सिकंदराबाद के सबसे महत्वपूर्ण धार्मिक स्थलों में से एक है। मंदिर शहर की सांस्कृतिक विरासत का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। मंदिर हर साल हजारों भक्तों और पर्यटकों को आकर्षित करता है।

देवी काली के मंदिर में नवरात्रि के समय बड़ा मेला का आयोजन किया जाता है। इस दिन मंदिर में भक्तों की लम्बी लाइन लगी रहती है। नवरात्रि के दौरान मंदिर को फूलों और दीयों से सजाया जाता है। इसी प्रकार दीपावली के समय में भी मंदिर को सजाया जाता है। भक्त देवी काली को धन और समृद्धि का आशीर्वाद देने के लिए धन्यवाद देते हैं। उज्जैनी महाकाली मंदिर सिकंदराबाद में एक महत्वपूर्ण धार्मिक और सांस्कृतिक स्थल है।

Back to top button