Friday, September 30, 2022
HomeAstrologyVastu Tips :-वास्तु के अनुसार सूर्यास्त के बाद ना करें ये काम...

Vastu Tips :-वास्तु के अनुसार सूर्यास्त के बाद ना करें ये काम वरना हो जायेंगे बर्बाद

Vastu Tips :- ज्योतिष के अनुसार शनि के शत्रु सूर्य, चंद्रमा और मंगल हैं। इन पर कई रीति-रिवाज हैं। उदाहरण के लिए जिन लोगों की कुण्डली में चन्द्रमा छठे भाव में है या किसी अन्य रूप में है, उन्हें रात्रि के समय दूध नहीं पीना चाहिए।

सूर्यास्त के बाद ना करें ये काम

रसोई में गंदे बर्तन न छोड़ें Do not leave dirty utensils in the kitchen

आजकल कई घरों में बर्तन रात में सिंक में छोड़ दिए जाते हैं ताकि अगले दिन उनकी सफाई की जा सके। रात के समय बर्तन को कभी भी सिंक में न छोड़ें, इससे घर की सुख-समृद्धि में कमी आती है। ज्योतिष शास्त्र में बर्तनों को शनि और शुक्र की राशि भी माना गया है। शायद इसीलिए इन रीति-रिवाजों को अपना प्रभाव बनाए रखने के लिए डिज़ाइन किया गया है।

रात के समय इन चीजों को बिस्तर के पास न रखें Do not keep these things near the bed at night

रात के समय अपने बिस्तर के नीचे कोई भी चप्पल नहीं रखनी चाहिए और न ही शयन कक्ष में झाड़ू रखनी चाहिए। ये दोनों चीजें न सिर्फ घर की सुख-शांति में बाधक हैं बल्कि गहरी नींद में भी बाधक हैं। रात के समय शयन कक्ष में झाड़ू रखने से जीवन में अनावश्यक चिंताएं दूर होंगी।

बिस्तर में खाना नहीं खाना चाहिए Should not eat food in bed

आजकल बिस्तर पर बैठकर खाना खाने का चलन है। खासतौर पर लोग अपने-अपने कमरों में बेड पर बैठकर टीवी देखते हुए डिनर करना पसंद करते हैं। यह न केवल घर के सदस्यों के बीच संबंध और सद्भाव को कमजोर करता है, बल्कि बुरे सपने का कारण भी बनता है और घर की शांति भंग करता है।

रात में बाल और नाखून न काटें Do not cut hair and nails at night

रात में बाल काटना या शेविंग करना आज की आधुनिक प्रथा में एक आम बात है, लेकिन यह घर की शांति को भी खराब कर सकता है। ज्योतिष में बालों को शनि का माना गया है और उन्हें काटने के लिए जिस कैंची और ब्लेड का इस्तेमाल किया जाता है, उसे मंगल ग्रह की निशानी कहा जाता है और इसीलिए कहा जाता है कि रात के समय बाल नहीं काटने चाहिए। इसी तरह सूर्यास्त के बाद नाखून नहीं काटने चाहिए, जिससे शनि और मंगल की शत्रुता बढ़ जाती है।

डिस्क्लेमर :- यह जानकारी सामान्य मान्यताओं पर आधारित जानकारी है ग्रामीण मिडिया इसकी पुष्टि नहीं करता।