क्यों बनाई जाती है मकर संक्रांति पर खिचड़ी, आइये जाने खिचड़ी खाने के 5 गजब के फायदे

Written by Ankita

Published on:

Khichdi Benefits: क्यों बनाई जाती है मकर संक्रांति पर खिचड़ी, आइये जाने खिचड़ी खाने के 5 गजब के फायदे, हिन्दुओं का नए साल का पहला त्यौहार मकर संक्रांति इस दिन का विशेष महत्व है मकर संक्रांति के दिन सभी घरों में खिचड़ी बनाने की परम्परा है परन्तु खिचड़ी खाना कई लोगो को पसंद नहीं है. लेकिन इस दिन खिचड़ी का महत्व अधिक बढ़ जाता है. इसके आलावा मकर संक्रांति के दिन सभी घरों में तिल गुड़ के लड्डू भी बनाये जाते है. तो आइये जानते है इसके कुछ ऐसे फायदे के बारे में जो शायद ही आपको पता होंगे।

खिचड़ी की सामग्री है गुणों का भंडार

यह भी पढ़े:-अधिक चुकंदर खाना हो सकता है शरीर के लिए नुकसानदायक साबित, आइये जानते है चुकंदर खाना क्यों है फायदेमंद

बताया जाता है कि इस दिन खिचड़ी बनाने का कुछ अलग ही महत्व है इस दिन खिचड़ी में डलने वाली सामग्री में खास महत्व होता है. ज्योतिष शास्त्र के अनुसार खिचड़ी में प्रयोग होने वाले चावल को चंद्रमा का प्रतीक माना जाता है. साथ ही दाल को शनि का प्रतीक, हल्दी को बृहस्पति का प्रतीक और नमक को शुक्र का प्रतीक माना जाता है. जबकि खिचड़ी में डलने वाली सब्जियों का संबंध बुध ग्रह से माना गया है. ऐसे में मकर संक्रांति पर खिचड़ी खाने से लोगों को सेहत का आशीर्वाद प्राप्त होता है.

इस दिन खिचड़ी खाने से होते है दोष समाप्त

मान्यताओं के अनुसार, ज्योतिषाचार्य ने बताया कि इस दिन बनी खिचड़ी खाने से शनि का दोष समाप्त होता है. उन्होंने यह भी बताया कि यदि किसी व्यक्ति पर शनि का प्रकोप है तो इस दिन की बनी से दोष मुक्त हो जायेगा। ज्यादातर इलाकों में जनवरी के महीने में ही धान की फसल पूरी तरह से तैयार होती है और इस दौरान नए धान से ही चूड़ा तथा चावल बनाया जाता है.

खिचड़ी खाने से होते है गजब के फायदे

पाचन में आसानी

अधिकतर लोग खिचड़ी को बीमारी में ही खाया जाने वाला खाना इसलिए कहा जाता है, क्योकि इसे कम मसाले और साबुत अनाज से बनाया जाता है तो बीमारी के समय में खिचड़ी खाने से पाचन की समस्या दूर हो जाती है.

वजन कम करने में मददगार

यदि आप मोटापे से परेशान है, तो इसके लिए आपको रोजना खिचड़ी का सेवन ही एक अच्छा उपाय है. यह पेट को ज्यादा देर तक भरा रखता है जिससे भूख नहीं लगती है, इससे मेटाबॉलिज्म बेहतर होता है और वजन नहीं बढ़ता है.

दिल की बीमारी के लिए

खिचड़ी में कम तेल,घी और मसाले से बनी होने की वजह से दिल से जुड़ी बीमारियों में राहत मिलती है. और विशेष रूप से दिल के लिए फायदेमंद होती है.

यह भी पढ़े:-जंगली पेड़ों के फूल-पत्ती में छुपा औषधीय गुण, जड़ी-बूटियों से मिलेगी कई बीमारियों में राहत, आइये जाने

ग्लूटेन फ्री फ़ूड

खिचड़ी ग्लूटेन फ्री फूड को डाइड में सेवन करना सबसे अच्छा विकल्प है। इसका सेवन करने के लिए इसे चावल, दाल और सब्जियों के साथ पकाया जाता है और गेहूं को बिलकुल शामिल नहीं किया जाता है. जिससे यह एक ग्लूटेन फ्री ऑप्शन साबित होता है।

डायबिटीज के लिए फायदेमंद

यदि आप डायबिटीज के मरीज हैं, तो बिना सोचे खिचड़ी को अपनी डाइट में शामिल कर सकते हैं। इसमें कम ग्लाइसेमिक इंडेक्स होने के कारण खिचड़ी डायबिटीज से पीड़ित लोगों के लिए एक अच्छा उपाय है।

पोषक तत्वों से भरपूर

खिचड़ी अपने आप में एक संतुलित भोजन है। दाल, चावल और सब्जियों से मिलकर बनी खिचड़ी प्रोटीन से भरपूर होती है इसमें कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन, आहार फाइबर, विटामिन सी, कैल्शियम, मैग्नीशियम, फास्फोरस और पोटेशियम की मात्रा अधिक होती है, इसलिए यह स्वास्थ्य के लिए ज्यादा फायदेमंद साबित होती है।

Leave a Comment